साली की चुदाई की जीजा जी के द्वारा

loading...

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अरुण है और दोस्त एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूं जो मेरे खास दोस्त रमेश की है अब आगे की बात सुनो अनस की जुबानी हाय मेरा नाम रमेश है और मेरी तो बहना है स्नेहा जो अरुण जजों के साथ अफ्रीका में रहती है और दूसरी रेखा जो अनमैरिड है एक बार अरुण जी जी मुंबई आए और वह जब से आए तब से चिंतित दिखाई दे रहे थे हमारे एक दिन उनके एक खास दोस्त के कुछ नहीं सर खाकी एक महीना बिजनेस के वास्ते टीवी से दूर था और यहां एक महीना गुजारना है मेरे सेक्स की बिना हाल बुरा हो रहा है

कोई लड़की चोदने को मिले तो बता उनकी उसने बिजी होने के कारण हो 4 दिन बाद रेड लाइट एरिया न जाने का वादा किया और उनकी बातें मैं चुपचाप सुन रहा था और जीजाजी को किसी भी हालत में रेड लाइट एरिया में जाने से रोकना था और अचानक मेरा एक ख्याल आया और मैं सोचा कि अगर राम जी के की सेटिंग रेखा से करा दूं जोधपुर चोदने के लिए मेरी कुंवारी चूत मिल जाएगी और जीजाजी गंदी बस्ती जाने से बस सकते हैं तो मैंने उस दिन से उन दोनों को ज्यादा से ज्यादा अकेला छोड़ना शुरू कर दिया 2 दिन पी चुके थे और दोनों में कुछ भी नहीं हो रहा था तभी मैंने उनके खास दोस्त के पास गया और मुझे टेंशन में देख कर उसने मुझे पूछा तो मैं जानबूझकर उसे कुछ ना बताने का नाटक कर रहा था उनके दोस्त के लाख पूछने के बाद बात माने झूठ ना कि जब से अरुण जी जी आए हैं

तब से रेखा उनसे हर रात चुदवाने का सपना देख कर कामुक आवाज निकलती रहती है अगर जीजा जी ने सुन लिया तो रेखा की चुदाई किए बिना नहीं छोड़ेंगे तो उसने कहा कि मैं तो सही बोल रहा है अरुण बढ़ा चुडक्कड़ आदमी है अगर रेखा उसके हाथ लग गई तो उसको चुप चुप के उसको चलने के काबिल नहीं छोड़ेगा जल्दी से जल्दी उसकी शादी करा दो मुझे पता था कि वह जीजा जी को बोलेगा जिस से जीजा जी रेखा को चोदने की ख्वाइश करेंगे और दूसरे दिन मैं जीजाजी में बड़ा परिवर्तन दिखा

जो अपने साली को देखता भी नहीं वह अब उसके चूतड़ों को देखकर लाल टॉपकाने लगा और मैं स गया कि अब जल्दी से जल्दी अपने जीजू से बुरी तरह चुदने वाली है 1 दिन जीजा जी अपने बेडरूम में सो रहे थे तब रेखा बेडरूम से होकर बालकनी में कपड़े सुखाने गई लेकिन जीजाजी क्यों नहीं सोए हुए नहीं थे सोने का नाटक कर रहे थे और 15-20 मिनट के बाद रेखा हफ्ते हुए हॉल में आई होगी डरी हुई थी मैं बेडरूम के पास जाकर देखा तो मेरे रोंगटे खड़े हो गए तेजाजी का लंड एकदम तना हुआ था और लगभग 9 इंच लंबा और 4 इंच मोटा था एकदम मित्रों के जैसे उस पर रेखा की लिपस्टिक का दाग और उसमें से निकलता हुआ जीजाजी का पानी यह देख कर मैं समझ गया जीजाजी रेखा के साथ क्या किया होगा

मुझे आप जीजा जी का हथियार देखकर रेखा की चिंता होने लगी क्योंकि रेखा की वाली चूत जीजा जी का इतना मोटा और बड़ा लंड बर्दाश्त नहीं कर पाएगी और उस दिन से मैंने उन दोनों को एक दूसरे से करीब आने नहीं दिया वहां जीजाजी रेखा को चोदने की फिराक में नजर विच आए थे और वो रेखा को के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार थे 1 दिन की जाजी मेडिकल से कुछ बड़ी जल्दी जल्दी में रीक्षा में बैठ कर चले गए और मैं और सिर्फ खोलकर देखी तो मैं बहुत डर गया क्योंकि जीजा जी ने जो दवाई ली थी वह वियाग्रा और नींद की गोली थी समझ गया कि जो जी क्या करने वाले हैं रात के 11:00 बजे हमने खाना खाया और रेखा में बर्तन धोकर नाइट बात यहां जीजा जी दूध गर्म कर 3 क्लास में बरतिया जिसमें एक वियाग्रा और दो में नींद की गोली थी जैसे रेखा नहा कर बाहर आई जीजा जी ने 1 दिन का क्लास उसे दे दिया लेकिन उसे यह नहीं मालूम था की दूध में नींद की गोली मिली हुई है और रेखा ने जीजा जी को थैंक्स बोल कर वह दूध पी लिया

जीजा जी जब मुझे दिया तो मैं खांसी का बहाना करके किचन में क्लास लेकर चला गया और दूध फेंक दिया और थोड़ा सा दूध होठों पर लगाया और हॉल में चला आया इधर जीजा जी अपना दूध पी चुके थे और रेखा जीजा जी के कमरे में जाकर बेड लगा रही थी तो जीजा जी मुझे पीछे गए और रेखा को बेड पर स्प्रे करने को कहा तो रेखा मुझे और कहा क्या बात है जीजा जी आप बड़े मूड में हो दीदी की याद आ रही है क्या रेखा ने जानबूझकर जीजा जी को छेङते हुए कहा तो जीजा जी ने प्राण रेखा को अपनी बाहों में भर दिया और उसके हाथों में किस करके देखा तो कहा कि अगर तुम चाहो तो आज रात अपनी दीदी की जगह ले कर मेरा बेड शेयर कर सकती हो तो रेखा किसी तरह वहां से छूटकर हॉल में आ गई और हॉल में हम बिस्तर लगा कर सो गए मुझे नींद आ रही थी

और अचानक रात को 3:00 बजे जीजाजी हॉल में आए और मुझे सोता देख रेखा को अपनी गोद में उठाकर बेडरूम में ले गए तो रेखा ने घबराते हुए जीजा जी को बोली जीजा जी यह क्या कर रहे हो प्लीज मुझे छोड़ दो तो जीजा जी बोले आप नहीं छोडूंगा मेरी लाडो रानी को 1 महीने से भूखा हो आज तुझे इतना खुश कर दूंगा कि अपने जीजा जी के शिवा जी कोई याद नहीं आएगा मुझे एक ऐसा लगा कि उठा कर देता जी को 24 मुक्के दे दो लेकिन मेरे मन में कुछ अलग ही चलने लगा और इतने दिनों से बी पी देख कर बोर हो चुका था आज मुझे लाइव सेक्स देखने का मौका मिलने वाला था

इसलिए मैं देखा को जीजा जी के चंगुल से बचाने के बजाय सोने का नाटक करके उसकी रासलीला देखने लगा फ्री रेखा प्लीज जीजाजी मुझे छोड़ दो मैं आपकी साली हूं मुझे क्यों बर्बाद करना चाहते हो आपका इतना मोटा है कि मैं बर्दाश्त नहीं कर पाऊंगी और मेरी सील टूट जाएगी तो मुझे कोई व्हाट्सएप नहीं करेगा जीजा जी को अपनी साली के डर का कारण पता चल गया जीजाजी तो जीजा जी बोले कि साली तो आधी घरवाली होती है और वैसे भी मेरे पास ऐसी क्रीम है जिसके लगाने से तेरी चूत की कितनी भी ठुकाई करने से वापस वैसी की वैसी बन सकती है और रही बात मॉडल लंड की इसके लिए तो कितने लड़कियां मरती है कितना मजा आता है आज तुझे में जन्नत की सैर करवा लूंगा बस मुझे तुम्हारा साथ चाहिए नहीं तो मुझे दोस्ती करनी पड़ेगी यह समझ चुकी थी

कि आज उसकी इज्जत लूटने वाली है और अगर जीजा जी के साथ एक ही तो जीजा जी प्यार से करेंगे वरना एमएसजी उससे हिंदी तो बड़ी दिक्कत होगी आखिर का रेखा अपने जीजू से जुएं को तैयार हो गई और अपनी साली की सहमति से अरुण जूजू फुले नहीं समा रहे थे और उन्होंने रेखा को चूमना शुरू किया और आखिरकार जीजाजी ने रेखा को बेडरूम में जाके लेटा दिया जब भी मैं जीजा जी बैडरूम का डोर थोड़ा सा खुला रख दिया जिससे मैं उन दोनों को आसानी से देख सकता था लेकिन वह मुझे बाहर मेरा होने के कारण देख नहीं सकते थे

और अब और देखते ही देखते सारे कपड़े उतार दिए सारे अलग करके रेखा को पूरा नंगा कर दिया हो क्या गजब का नसीब आया था राजा जी ने इतना कमसिन भजन उसके बड़े बड़े आम कैसे दोनों चूचियां और उसकी गोल मटोल गोरी गोरी गांड कुंवारी चूत आज तो जीजा जी की किस्मत खुल गई और और देखते ही देखते रिचा जी पूरे नंगे हो गए और जीजा जी बेड पर सोए और रेखा को इशारा किया और रेखा ने तुरंत जीजा जी के ऊपर बैठ गए और जीजा जी का मोटा लैंड को मुंह में लेकर चूसने लगी जीजा जी ने भी रेखा के दोनों टांगों को फैला कर उसकी नाजुक चूत में अपनी जीत साल पहले चूत चाटने लगे दोनों 69 मे थे मैं यह देख कर ऐसा लग रहा था

कि मानो सशक्त कामदेव और राठी मेरे सामने प्रकट हो गई हो 15 मिनट दोनों में अच्छी तरह से सिंचाई करने के बाद जीजा जी उठे और रेखा के कान में कुछ कहा और तब रेखा ने शर्मा के अपने दोनों हाथों में अपना चेहरा छुपा के जीजा जी के लॉक होने पर आखिरकार रेखा तैयार हो गए और भीड़ पर जीजा जी के घुटनों पर कुटिया बंद कर खड़ी हो गई तेजाजी ने ड्रेसिंग टेबल के खोपरे का तेल पढ़ा था वह लिया तेल अपने लंड पर लगाया और रेखा की चिकनी गांड में वोट दिया और अब जीजा जी ने रेखा के पीछे हाथ रख दे पोशी जन ली

मैं भी अपना हथियार छोड़कर हिलाना शुरू कर दिया और देखते-देखते जज ने अपना विशाल का लंड नंगी गांड में घुसा दिया अब दर्द के मरे रेखा चीखने लगी और जीजाजी से बनाते करने लगी जीजा जी प्लीज मुझे छोड़ दो मैं नहीं चुद वाना चाहती बहुत दर्द हो रहा है लेकिन इतनी मुश्किल कुमारी साली को चोदने का मौका मिला था वह इतनी आसानी से जीजा जी छोड़ने वाले नहीं थे और तेजाजी जोर जोर से रेखा की गांड मारने लगे और जीजा जी की स्पीड धीरे धीरे बढ़ती ही जा रही थी

जिससे कारण रेखा की जान निकल रही थी उसकी आंखों से आंसू बहने लगे और कमरे में रेखा की आवाज आने लगी आह्हहहहहहहहह आह्हहहहहहहह ऊह्हहहहहहह
आईईईईईईईइईई ऊफ्फफफफफ नह्हहहहही जस्सी जी के घूम रही थी करीब 20 मिनट बाद जीजा जी ने अपना लंड लिखा कि घर से बाहर निकलना और वह अपना सारा माल रेखा की छाती पर डाल दिया और पेड़ पर गिर पड़े और जहां जीजा जी इस चुदाई से पूरा मजा लिया था वहां रेखा ही जान तेरी भी उस पर क्या बीत रही थी वह भी वैसे ही कल का बेड पर अपनी टांगे चला कर सो गई तो दोस्तों यह थी मेरी कहानी अगर आपको अच्छी लगी हो तो प्लीज शेयर करें यह कहानी का राइटर adultkahani.com है